लापरवाह अस्पतालों के खिलाफ बोलें ‘इंकलाब’ (20.3.2017)