BREAKING NEWS
क्या कांग्रेस का हाथ थामने के मूड में नहीं है सपा-बसपा? जल्द हो सकता है ऐलान            चुनावों के नतीजे आने हुए शुरु, पांचों नगर निगम में बीजेपी को बढ़त हासिल           नगर निगम चुनावों के नतीजे आज, जाने किसकी दावेदारी है ज्यादा मजबूत           दो राज्यों में हुई कर्जमाफी के बाद पहली बार बोले राहुल गांधी, कहा....           Wheat Allergy ने छुड़वाई नौकरी, परेशान युवती ने की खुदकुशी           लड़की की चाहत में मुंबई से पाकिस्तान पहुंचा था हामिद, 6 साल बाद हुई रिहाई           लगातार 3 सिलेंडर ब्लास्ट होने से छोटी सब्जी मंडी में लगी भीषण आग           पर्थ टेस्ट में टीम इंडिया की शर्मनाक हार, ऑस्ट्रेलिया ने 146 रनों से जीता मैच           सीएम की कुर्सी पर बैठते ही एक्शन में कमलनाथ, किया किसानों का कर्ज माफ           गरीब लड़की ने भेजा पीएम मोदी को बहन की शादी का कार्ड          
जेएनयू के कैंपस में स्टूडेंट्स ने पकौड़े तलना किया शुरु
जेएनयू के कैंपस में स्टूडेंट्स ने पकौड़े तलना किया शुरु
17 Jul 2018

 

नई दिल्ली: जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी जो कि देश की सबसे प्रतिष्ठित मानी जाने वाली यूनिवर्सिटी है। उसमें चार स्टूडेंट्स ने अचानक से कैंपस के अंदर पकौड़ा तलना शुरु कर दिया। जिसका उन्हें भारी जुर्माना भी भुगतना पड़ा। प्रशासन ने उन चार स्टूडेंट के पकौड़े बेचने को अनुशासनहीनता मानते हुए 20-20 हजार रुपये का जुर्माना देने का फरमान ज़ारी किया है।

 

इतना ही नहीं उनमें से एक छात्र को हॉस्टल से भी निकाल दिया गया है। जबकि बाकि तीन स्टूडेंट्स का सजा के तौर पर हॉस्टल बदल दिया गया है। दरअसल, फरवरी के महीने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बेरोजगार होने से अच्छा पकौड़ा बेचने वाले बयान का ये स्टूडेंट विरोध कर रहे थे।

 

आपको बता दें कि इससे पहले भी विपक्षी दलों के नेता और कार्यकर्ता पकौड़े तलकर पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बयान का विरोध कर चुके हैं। इस से कुछ महीने पहले एक टीवी इंटरव्यू के दौरान जब पीएम मोदी से रोजगार सृजन को लेकर सवाल किया गया था, तब उसके जवाब में उन्होंने कहा था कि अगर कोई पकौड़ा बेचकर हर रोज 200 रुपये कमाता है। तो उसे भी नौकरी के तौर पर देखा जाना चाहिए।

 

पीएम के इसी बयान पर कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दलों ने जमकर हमला बोला था। इतना ही नहीं राज्यसभा में अपना पहला भाषण देते हुए शाह ने भी कहा था कि पकौड़ा बनाना कोई शर्म की बात नहीं है। बल्कि, उसकी तुलना भिखारी के साथ करना शर्म की बात है।

Share this post

Submit to Google Bookmarks Submit to Technorati Submit to Twitter Submit to LinkedIn