BREAKING NEWS
काशी में बच्चों के साथ जन्मदिन सेलिब्रट करेंगे - मोदी           जानिए क्या है 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाने का महत्व           बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक का दूसरा दिन आज            अंतरराष्ट्रीय बाजार में आई सोने की कीमतों में गिरावट           कैलाश यात्रा के बाद दुबई जाने का प्लेन बना रहे है राहुल गांधी           बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक, लोकसभा चुनाव की दशा-दिशा होगी तय           अपने देश के बजाए दूसरे देशों को आधे दाम में पेट्रोल दे रहा भारत           एशियाई खेलों में भारत का छठा दिन भी रहा शानदार...           विरोधी नारों और काले झंडो के साथ हुआ शत्रुघ्न सिन्हा का स्वागत           भारी बारिश के कारण उत्तरी भारत में हुए स्कूल, कॉलेज ‘बंद’          
बुराड़ी केस में हो रहे दंग करने वाले खुलासे
बुराड़ी केस में हो रहे दंग करने वाले खुलासे
04 Jul 2018

 

नई दिल्ली: दिल्ली के बुराड़ी इलाके में परिवार को एक ही घर के 11 लोगों की मौत के मामले में पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आ गई है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में 11 लोगों की मौत फांसी लगाने से ही हुई है। लेकिन इससे पहले कहा जा रहा था कि एक बुज़ुर्ग महिला को गला दबाकर मारा गया था। वहीं भाटिया परिवार के करीबी और रिश्तेदार ये बात मानने को तैयार नहीं कि उन लोगों ने आत्महत्या की है।

 

आपको बता दें कि पुलिस अंधविश्वास समेत सभी मामले की जांच कर रही है। इस पूरे मामले में दो दिन बाद भी पुलिस की जांच में जुटी हुई है। इन 11 मौत के पीछे अब तक 11 खुलासे हुए हैं। अंतिम संस्कार के लिए शव आज परिवार को सौंप दिए जाएंगे। पुलिस के अधिकारी के मुताबिक पीटीआई को बताया है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में अब तक गला घोंटे जाने या हाथापाई के कोई संकेत नहीं मिले हैं।

 

पुलिस ने बताया कि दस लोग लोहे के जाल में फांसी से लटके थे जबकि 77 वर्षीय महिला घर के एक अन्य कमरे में मृत पाई गई थीं। इससे पहले यह आशंका जताई जा रही थी कि नारायण देवी की मौत गला घोंटे जाने से हुई है लेकिन चिकित्सकों का कहना है उनकी मौत भी फांसी लगने के कारण ही हुई है। क्योंकि रस्सी उनके शव के निकट लटकी हुई पाई गई। पुलिस अधिकारी ने बताया कि अब यह जांच का विषय है कि उनके गले से रस्सी को किसने निकाली होगी।

 

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक घटनास्थल से मिले हाथ से लिखे कुछ नोट्स को देखते हुए पुलिस को संदेह है कि यह मामला सोच-समझकर की गई आत्महत्या का है। जो किसी धार्मिक अनुष्ठान के लिए की गई प्रतीत होती है। अधिकारियों के मुताबिक, कुछ नोट्स पर लिखा है कि ‘कोई मरेगा नहीं’ बल्कि कुछ ‘महान’ हासिल कर लेगा।

Share this post

Submit to Google Bookmarks Submit to Technorati Submit to Twitter Submit to LinkedIn