BREAKING NEWS
फोटोशूट के लिए जा रहे छात्रों की गाड़ी ट्रक से टकराई, 3 की दर्दनाक मौत           नगर निगम पर फिर लगा भ्रष्टाचार का आरोप, दो क्लर्क गिरफ्तार            लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी कांग्रेस में छिड़ी जुबानी जंग, राहुल ने उतारी पीएम की नकल            मनोहर राज में सड़कों पर उतरने को मजबूर प्रदेश का कर्मचारी !           शिक्षामंत्री महिलाओं पर हुए महरबान तो अधिकारियों को लगाई फटकार           पिता के बचाव में ये क्या बोल गए दिग्विजय चौटाला            दरिंदो ने नाबालिग को घर में घुसकर बनाया दरिंदगी का शिकार            राहुल गांधी ने फिर लगवाए ‘चौकीदार चोर है’ के नारे            NHM कर्मचारियों की हड़ताल बनी मरीजों के लिए मुसीबत           शहर के नामी अस्पताल में महिला नर्स की संदिग्ध परिस्तिथियों में मौत          
गणतंत्र दिवस पर प्रणब मुखर्जी, नानाजी देशमुख और भूपेन हजारिका को मिलेगा भारत रत्न
गणतंत्र दिवस पर प्रणब मुखर्जी, नानाजी देशमुख और भूपेन हजारिका को मिलेगा भारत रत्न
26 Jan 2019

 

नई दिल्ली: देश आज 70वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। गणतंत्र दिवस से ठीक एक दिन पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने तीन बड़ी हस्तियों को भारत रत्न देने का ऐलान किया। इनमें देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, डॉ. भूपेन हजारिका और नानाजी देशमुख को मरणोपरांत भारत रत्न दिया जाएगा। आपको बता दें कि हर बार केवल एक ही व्यक्ति को भारत रत्न दिया जाता था लेकिन इस बार तीन बड़ी हस्तियों को ये सम्मान दिए जाने का ऐलान किया गया है।

 

इस ऐलान के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने प्रणब मुखर्जी से फोन पर बात भी की। वहीं पीएम मोदी ने मुखर्जी की तारीफ करते हुए कहा, ''प्रणब दा हमारे समय के एक उत्कृष्ट राजनेता हैं। उन्होंने दशकों तक देश की निस्वार्थ और अथक सेवा की है।''

 

इसके अलावा पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने ट्वीट करते हुए कहा कि, 'भारत के लोगों के प्रति विनम्रता और कृतज्ञता व्यक्त करते हुए मैं इस महान सम्मान को स्वीकार करता हूं। देशवासियों ने मुझे शुभकामनाएं दीं। मैंने हमेशा कहा है और मैं दोहराता हूं कि मैंने अपने महान देश के लोगों को जितना दिया है, उससे अधिक मुझे मिला है।

'

 

प्रणब मुखर्जी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता है। वह साल 2012 से 2017 तक देश के 13वें राष्ट्रपति भी थे। यूपीए सरकार में वह रक्षा, विदेश और वित्त मंत्री थे।

 

नानाजी देशमुख

 

चंडिकादास अमृतराव देशमुख को नानाजी देशमुख के नाम से भी जाना जाता है। नानाजी देशमुख भारत के एक सामाजिक कार्यकर्ता थे। उन्होंने शिक्षा, स्वास्थ्य और ग्रामीण आत्मनिर्भरता के क्षेत्र में काम किया। भारत रत्न से पहले उन्हें पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था।

 

भूपेन हजारिका

 

भूपेन हजारिका पूर्वोत्तर राज्य असम से ताल्लुक रखते थे। अपनी मूल भाषा असमिया के अलावा भूपेन हजारिका हिंदी, बंगला समेत कई अन्य भारतीय भाषाओं में गाना गाते रहे थे। उनहोने फिल्म 'गांधी टू हिटलर' में महात्मा गांधी का पसंदीदा भजन 'वैष्णव जन' गाया था।  उन्हें पद्मभूषण सम्मान से भी सम्मानित किया गया था।

Share this post

Submit to Google Bookmarks Submit to Technorati Submit to Twitter Submit to LinkedIn