इंदौर के गैंगरेप के दूसरे आरोपी को पुलिस ने किया अरेस्ट
इंदौर के गैंगरेप के दूसरे आरोपी को पुलिस ने किया अरेस्ट
30 Jun 2018

 

इंदौर: देशभर में हैवनियत का बढ़ना इतना आम हो गया है कि आरोपी किसी की जिंदगी को बर्बाद कर के खुलेआम घुमते है। आपको बता दें कि मध्‍य प्रदेश के मंदसौर में 7 साल की मासूम बच्‍ची के साथ 'निर्भया' जैसी हैवानियत के आरोपियों ने इस खौफनाक वारदात को अंजाम देने से पहले पूरी प्‍लानिंग कर रखी थी जिसके बाद से ही वह लंबे समय तक उन्होंने मासूम बच्‍ची के स्कूल पर नजर रखी थी। पुलिस जांच के मुताबिक हैरान करने वाली बात का खुलासा हुआ है कि आरोपियों ने जानबूझ कर कम उम्र की बच्‍ची को चुना जो रेप का विरोध न कर सके।

 

मिली जानकारी के मुताबिक गैंगरेप की इस घटना ने पूरे देश को हिला दिया है और दोषियों को फांसी की सजा देने की मांग को तेज कर दिया। बताया जा रहा है कि इससे पहले शुक्रवार को मंदसौर पुलिस ने गैंगरेप की घटना के दूसरे आरोपी को भी अरेस्‍ट कर लिया। बता दें कि इस मामले में पकड़े गए पहले आरोपी इरफान ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि बच्ची से बलात्कार की वारदात में उसके साथ मंदसौर के मदरपुरा का रहने वाला आसिफ भी शामिल था। जिसके बाद पुलिस ने दूसरे आरोपी को भी धर दबोचा।

 

आपको बता दें कि वहीं दूसरी ओर मासूम बच्‍ची अभी भी हॉस्पिटल में जिंदगी और मौत से जूझ रही है। बच्ची की हालत इतनी गंभीर है कि उसकी कई सर्जरी की गई है। मंदसौर पुलिस ने चौंका देने वाले खुलासे में बताया कि आरोपियों ने बच्‍ची के बर्बरता की पूरी प्‍लानिंग की थी। इतनी ही नहीं, हैवानियत की सारी हदें पार करने के लिए उन्‍होंने गैंगरेप के बाद काफी देर उन वस्‍तुओं की तलाश की जिससे उसके प्राइवेट पार्ट्स को नुकसान पहुंचाया जा सके। गला काटने के बाद वे लोग कथित रूप से शराब पी रहे थे, जबकि बच्‍ची का खून बह रहा था।

Share this post

Submit to Google Bookmarks Submit to Technorati Submit to Twitter Submit to LinkedIn