BREAKING NEWS
काशी में बच्चों के साथ जन्मदिन सेलिब्रट करेंगे - मोदी           जानिए क्या है 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाने का महत्व           बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक का दूसरा दिन आज            अंतरराष्ट्रीय बाजार में आई सोने की कीमतों में गिरावट           कैलाश यात्रा के बाद दुबई जाने का प्लेन बना रहे है राहुल गांधी           बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक, लोकसभा चुनाव की दशा-दिशा होगी तय           अपने देश के बजाए दूसरे देशों को आधे दाम में पेट्रोल दे रहा भारत           एशियाई खेलों में भारत का छठा दिन भी रहा शानदार...           विरोधी नारों और काले झंडो के साथ हुआ शत्रुघ्न सिन्हा का स्वागत           भारी बारिश के कारण उत्तरी भारत में हुए स्कूल, कॉलेज ‘बंद’          
मोबाइल खोने पर अब नहीं है परेशान होने की जरूरत
मोबाइल खोने पर अब नहीं है परेशान होने की जरूरत
11 May 2018

 

नई दिल्ली: मोबाइल इंसान की एक ऐसी जरूरत बन चुकी है जिसके बिना उसका रहना नामुमकिन सा हो गया है। अगर किसी का मोबाइल चोरी होता है, तो वह परेशान हो जाता है। उसे समझ नहीं आता कि आखिर वो इस मामले में क्या करे?

 

आपको बता दें कि इस मामले की शिकायत दर्ज कराने के लिए भी कई बारी पुलिस के खुब चक्कर काटने पड़ जाते है और इधर-उधर भटकना पड़ता है। जिनका भी फोन गुम होता है उनके लिए एक अच्छी खबर है। जिसके लिए सरकार ने मोबाइल चोरी होने पर इसकी शिकायत प्रक्रिया को आसान बनाने की योजना बनाई है।

 

मिली जानकारी के मुताबिक बताया जा रहा है कि केंद्र सरकार की ओर से एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है। इस हेल्पलाइन नंबर पर देश के किसी भी कोने में मोबाइल चोरी होने की शिकायत दर्ज कराई जा सकती है।

 

आपको बता दें कि केंद्र सरकार की ओर से हेल्पलाइन नंबर 14422 जारी किया है। जिस पर फोन करके आप अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है। इसी के साथ शिकायत के तुरंत बाद ही आपका मोबाइल सिम बंद कर दिया जाएगा। बता दें कि हेल्पलाइन नंबर पर शिकायत के बाद तुरंत ही उस इलाके की पुलिस और मोबाइल कंपनी इसकी खोज में जुट जाएगी।

 

बताया जा रहा है कि सेंट्रल इक्विपमेंट आईडेंटिटी रजिस्टर में देश के हर नागरिक का मोबाइल मॉडल, सिम नंबर और आईएमईआई नंबर है। दरअसल मोबाइल के खोने पर शिकायत दर्ज होते ही पुलिस और मोबाइल मॉडल और आईएमईआई का मिलान करेंगी। लेकिन आईएमईआई नंबर बदला जा चुका होगा, तो मोबाइल कंपनी उसे बंद कर देंगी, जिसके बाद भी सेवा बंद होने पर भी पुलिस मोबाइल ट्रैक कर सकेगी।

Share this post

Submit to Google Bookmarks Submit to Technorati Submit to Twitter Submit to LinkedIn