BREAKING NEWS
INDvsSA: भारत ने की 5-1 से सीरीज अपने नाम, दक्षिण अफ्रीका पर भारी पड़े कोहली            हरियाणा कैबिनेट की अहम बैठक, 5 मार्च से होगी हरियाणा विधानसभा बजट सत्र की शुरुआत!           सीएम ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए किया अंत्योदय आहार योजना का शुभारंभ            बीजेपी का साथ छोड़ कांग्रेस में फिर आए अरविंदर सिंह लवली           सड़कों पर उतरे आंगनवाड़ी वर्कर, मांगों को लेकर किया प्रदर्शन           जाट बलिदान दिवस के लिए पुलिस की तैयारियां, पैरामिलिट्री फ़ोर्स की पहुंची 4 कंपनियां           चलती ट्रेन में छात्रा के साथ गैंगरेप, तनाव में आकर की खुदखुशी की कोशिश           PNB महाघोटाला: अमेरिका में हो सकता है नीरव मोदी!            जाट आरक्षण पर ‘सुप्रीम’ नोटिस, हरियाणा सरकार से मांगा जवाब           स्कूल बस पलटी, 1 बच्ची और कंडक्टर की मौत, 25 बच्चे घायल           
पनापा मामले में बड़ा फैसला,PM पद से हटाए गये नवाज शरीफ
पनापा मामले में बड़ा फैसला,PM पद से हटाए गये नवाज शरीफ
28 Jul 2017

 

इस्लामाबाद : पनामा पेपर मामले में पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने नवाज शरीफ को दोषी करार दिया है.  इस फैसले के बाद नवाज शरीफ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पद से हटाए जाएंगे. सुप्रीम कोर्ट में 5 जजों की बेंच ने नवाज शरीफ के खिलाफ फैसला सुनाया. पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने एनएबी को आदेश दिया है कि वे दो हफ्तों के अंदर नवाज शरीफ और उनके परिवार के खिलाफ केस दायर करें. सुप्रीम कोर्ट ने नवाज शरीफ को पद से तुरंत इस्तीफा देने का आदेश दिया है.

 

आपको बता दें कि नवाज शरीफ के परिवार के विदेश में संपत्ति अर्जित करने के आरोपों की जांच के लिए संयुक्त जांच दल का गठन किया गया था और जेआईटी ने 10 जुलाई को अपनी रिपोर्ट कोर्ट को सौंप दी थी. रिपोर्ट में कहा गया था कि शरीफ और उनके बच्चों का रहन-सहन उनके आय के ज्ञात स्रोत के मुताबिक नहीं है. रिपोर्ट में उनके खिलाफ भ्रष्टाचार का नया मामला दर्ज करने का सुझाव दिया गया था.

 

भाई की होगी ताजपोशी !

नवाज शरीफ को अब कुर्सी छोड़नी पड़ेगी. उम्मीद की जा रही है कि उनके छोटे भाई शहबाज शरीफ की प्रधानमंत्री पद पर ताजपोशी तय है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को अगर सुप्रीम कोर्ट संवेदनशील पनामा पेपर्स मामले में कथित भ्रष्टाचार और मनी लॉन्ड्रिंग के लिए अयोग्य ठहराने के बाद उनके छोटे भाई एवं पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री शहबाज उनकी जगह ले सकते हैं.

 

शहबाज पाकिस्तानी संसद के निचले सदन नेशनल असेम्बली के सदस्य नहीं हैं, जिसके चलते वह फौरन उनका स्थान नहीं ले सकते और उन्हें चुनाव लड़ना होगा. पाकिस्तानी सूत्रों के हवाले से बताया कि शहबाज के उपचुनाव में चुने जाने तक रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ के 45 दिनों तक अंतरिम प्रधानमंत्री के तौर पर कार्यभार संभालने की संभावना है. यह निर्णय सत्तारूढ़ पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज (पीएमएल-एन) की उच्च स्तरीय बैठक में लिया गया.

Share this post