BREAKING NEWS
इतिहास के पन्नों में 20 जनवरी           बजट पेश होने से पहले पीएम मोदी ने अपने बयान में कहां ‘सिर्फ GST और नोटंबदी ही मेरी सरकार के काम नहीं           संजय लीला भंसाली को कोर्ट से मिली राहत           फरीदाबाद में युवती से गैंगरेप मामला , पुलिस ने दो आरोपियों को किया गिरफ्तार           फिल्म 'पद्मावत' पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई , फिल्म के प्रतिबंध के खिलाफ निर्माता पहुंचे कोर्ट           इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गुजरात दौरा           अशोक तंवर का बड़ा बयान , ‘विघटन के कगार पर है बीजेपी’           स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज का बयान , विज ने कांग्रेस पर साधा निशाना           कांग्रेस की साइकिल यात्रा शुरू, अशोक तंवर के नेतृत्व में साइकिल यात्रा           आज से चढ़ेगा क्रिकेट का ‘सुपर फीवर’ ! भारत-साउथ अफ्रीका के बीच आज से दूसरा टेस्ट मैच          
GST महज एक दिन दूर... क्या जीएसटी से बदल जाएगी देश की तस्वीर?
GST महज एक दिन दूर... क्या जीएसटी से बदल जाएगी देश की तस्वीर?
29 Jun 2017

 

नई दिल्ली:  देश में सबसे बड़ी कर क्रांति कहे जा रहा जीएसटी यानि गुड्स एंड सर्विसिस टैक्स के आने में बस एक दिन बचा है. जीएसटी जिसे देश में सबसे बड़े कर बदलाव के तौर पर देखा जा रहा है. जीएसटी जिसके आने से आम लोगों को राहत मिलने की उम्मीद दिखाई जा रही है. वो जीएसटी जिससे एक देश एक कर की व्यवस्था लागू हो रही है. आज उसी जीएसटी की पूरी एबीसीडी हम आपको समझाने जा रहे हैं. 30 जून की आधी रात से गुड्स एंड सर्विसिस टैक्स देश भर में लागू हो जाएगा. और इसी के साथ बदल जाएगी देश की टैक्सेशन की पूरी तस्वीर.

 

ऐसे ही कई सवाल इस वक्त आपके ज़हन में घूम रहे होंगे कि आखिर जीएसटी से पहले मैं क्या करूं और क्या ना करूं. इन सवालों के जवाब जानने से पहले आइये जानते हैं.

 

GST क्या है ?

गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) एक अप्रत्यक्ष कर यानी इंडायरेक्ट टैक्स

जीएसटी के तहत वस्तुओं और सेवाओं पर एक समान टैक्स लगेगा

जीएसटी से भारत एक सिंगल टैक्स वाली अर्थव्यवस्था बन जाएगा

देश में वस्तुओं और सेवाओं पर लगने वाले अलग अलग तरह के टैक्स खत्म हो जाएंगे

नये आंकड़े के मुताबिक देश के करीब 132 करोड़ लोग सेवाओं और वस्तुओं पर सिर्फ एक तरह का Tax देंगे जिसे GST के नाम से जाना जाएगा

विशेषज्ञों की राय है कि अगर देश में GST लागू हो जाएगा तो GDP growth 1 से 2 फीसदी तक बढ़ सकती है

जीएसटी में चार तरह के टैक्स स्लैब होंगे

5 फीसदी टैक्स

12 फीसदी टैक्स

18 फीसदी टैक्स

28 फीसदी टैक्स

5 फीसदी टैक्स के दायरे में होंगे

चीनी, चाय, भुने हुई कॉफी बीन्स, खाने का तेल, स्किम्ड मिल्क पाउडर, बच्चों के लिए मिल्ड फूड, पैक्ड पनीर, सूती धागा, फैब्रिक, 500 रुपये तक की फुटवेयर, न्यूजप्रिंट, पीडीएस के तहत मिलने वाला केरोसिन, घरेलू एलपीजी, कोयला, सोलर फोटोफोलटैक सेल और मॉड्यूल, कॉटन फाइबर, 1000 रूपए तक के कपड़े। दूध और अनाज पर कोई टैक्स नहीं लगेगा

12 फीसदी टैक्स स्लैब
मक्खन, घी, मोबाइल, काजू, बादाम, सॉस, फलों का जूस, नारियल पानी, अगरबत्ती, छाता, 1000 रूपए से ज्यादा के कपड़े

18 फीसदी टैक्स स्लैब

जीएसटी के तहत 18 फीसदी टैक्स स्लैब के दायरे में होगा यह सामान- हेयल ऑयल, साबुन, टूथपेस्ट, कैपिटल गुड्स, इंडस्ट्रियल इंटरमीडियरीज, पास्ता, कॉर्न फ्लैक्स, जैम, सूप, आइसक्रीम, टॉयलेट/फेशियल टिश्यूज, आयरन/स्टील, फाउंटेन पेन, कंप्यूटर, मानवनिर्मित फाइबर, 500 रुपये से अधिक के फुटवेयर

28 फीसदी टैक्स स्लैब
जीएसटी के तहत 28 फीसदी टैक्स स्लैब के दायरे में होगा यह सामान- उपभोक्ता टिकाऊ वस्तुएं, सीमेंट, चुइंग गम, कस्टर्ड पाउडर, परफ्यूम, शैंपू, मेकअप, पटाखे, मेकअप का सामान और मोटरसाइकल.

ये तो थी टैक्स स्लैब की जानकारी लेकिन जीएस के बाद क्या महंगा होगा और क्या सस्ता...इस पर आम लोगों की निगाहें बनी हुई हैं.

महंगा होगा रेल सफर

एसी और फर्स्ट क्लास में सफर के लिए ज्यादा पैसे देने पड़ेंगे

क्योंकि टिकट पर सर्विस टैक्स 4.5 फीसदी से बढ़कर 5.0 फीसदी हो जाएगा

इंश्योरेंस का प्रीमियम बढ़ेगा

बीमा को 18 फीसदी की कैटेगरी में रखा गया है. अब तक बीमा पर 15 फीसदी टैक्स लगता था.

क्रेडिट कार्ड और बैंक ट्राजैक्शन पर चार्ज बढ़ेगा

अब तक 15 फीसदी टैक्स देना होता था, अब 18 फीसदी देना होगा। बैंकों ने अपने ग्राहकों को मैसेज के जरिए चेताना शुरू कर दिया है

मोबाइल फोन कुछ राज्यों में सस्ते होंगे और कुछ राज्यों के लिए महंगे

जिन राज्यों में वैट 14 फीसदी था, वहां मोबाइल के लिए टैक्स रेट 12 फीसदी तय हुआ है, यहां मोबाइल फोन सस्ता होगा

कर्नाटक, तमिलनाडु, केरल जैसे राज्यों में वैट 5 फीसदी है, वहां पर 12 फीसदी टैक्स देना होगा यानि मोबाइल महंगे हो जाएंगे.

मोबाइल बिल का पेमेंट महंगा होगा, लेकिन इसमें भी आगे कमी हो सकती है

अभी 15 प्रतिशत टैक्स मोबाइल बिल पेमेंट पर लगता है, एक जुलाई से बिल के लिए 18 प्रतिशत बिलिंग अमाउंट पर टैक्स लगेगा

फाइव स्टार होटल में रहना महंगा हो जाएगा

जीएसटी के लागू होने पर टूर पैकेज महंगा हो जाएगा।

खाद पर 12% कर लगेगा, जबकि  कीटनाशकों पर 18% तक कर देना पड़ेगा।

 

GST से क्या होगा सस्ता     

इकोनॉमी क्लास में हवाई सफर करना सस्ता हो जाएगा

ओला और उबर राइड सस्ती होंगी

छोटी कारें महंगी और लग्जरी कारें सस्ती होंगी

रेस्टोरेंट में खाना सस्ता पड़ सकता है

हालांकि जीएसटी को लेकर प्रदेश की अलग अलग वर्ग की जनता के मन में अलग अलग सवाल है। और कपड़ा व्यापारी वर्ग में सबसे ज्यादा विरोध

व्यापारियों को नहीं मालूम GST

विपक्ष और व्यापारी जीएसटी का खुलकर विरोध कर रहे हैं..कई जगहों पर कपड़ा व्यापारी हड़ताल पर चले गए हैं...इधर सरकार और सरकार के मंत्री भी जीएसटी पर मंथन कर रहे हैं

जीएसटी को लेकर कारोबारियों के मन में कई सवाल हैं, कई डर है, और सबसे बड़ी बात अगर जीएसटी लागू होने के बाद व्यापारी टैक्स चोरी करते हैं तो इसके लिए सजा का भी प्रावधान है. जिसकी वजह से कारोबारियों में हड़कंप भी है... विपक्ष तो ये भी कह रहा है कि आधी अधूरी तैयारियों के साथ जीएसटी लाया जा रहा है...और आम आदमी अब तक जीएसटी को समझ नहीं पाया है.

 

बहरहाल जीएसटी को आने में कुछ घंटों का ही फासला बाकी है...देश इस परिवर्तन के लिए कितना तैयार है ये तो 1 जुलाई की सुबह ही मालूम चल पाएगा...लेकिन जीएसटी के सहारे अच्छे दिन का सपना होगा पूरा ये देखने के लिए इंतजार कीजिए 30 जून की आधी रात का...जब होने जा रहा है देश में सबसे बड़ा बदलाव क्योंकि आ गया है जीएसटी.

Share this post