BREAKING NEWS
फोटोशूट के लिए जा रहे छात्रों की गाड़ी ट्रक से टकराई, 3 की दर्दनाक मौत           नगर निगम पर फिर लगा भ्रष्टाचार का आरोप, दो क्लर्क गिरफ्तार            लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी कांग्रेस में छिड़ी जुबानी जंग, राहुल ने उतारी पीएम की नकल            मनोहर राज में सड़कों पर उतरने को मजबूर प्रदेश का कर्मचारी !           शिक्षामंत्री महिलाओं पर हुए महरबान तो अधिकारियों को लगाई फटकार           पिता के बचाव में ये क्या बोल गए दिग्विजय चौटाला            दरिंदो ने नाबालिग को घर में घुसकर बनाया दरिंदगी का शिकार            राहुल गांधी ने फिर लगवाए ‘चौकीदार चोर है’ के नारे            NHM कर्मचारियों की हड़ताल बनी मरीजों के लिए मुसीबत           शहर के नामी अस्पताल में महिला नर्स की संदिग्ध परिस्तिथियों में मौत          
शहर के नामी अस्पताल में महिला नर्स की संदिग्ध परिस्तिथियों में मौत
शहर के नामी अस्पताल में महिला नर्स की संदिग्ध परिस्तिथियों में मौत
07 Feb 2019

 

फरीदाबाद: शहर के बड़े अस्पताल में काम करने वाली एक नर्स की ड्यूटी के दौरान हुई रहस्य में हालात में मौत हो जाने से सनसनी फैली हुई है। आपको बता दें कि रात को यह नर्स करीब 8 बजे ड्यूटी पर आई थी और करीब 12 बजे परिजनों को सूचना मिली कि उसकी मौत हो गई है। परिजन जहां इस मामले में अस्पताल प्रशासन पर लापरवाही बरतने का आरोप लगा रहे हैं, वहीं पुलिस मामले की जांच करने और अस्पताल प्रशासन पूरे मामले में बचने का प्रयास कर रहा है।

 

आपको बता दें कि, ये घटना बल्लभगढ़ के पार्क अस्पताल की है, जहां पर बीती रात यहां काम करने वाली एक नर्स की अचानक रहस्यमय तरीके से मौत हो गई। दरअसल मूल रूप से होडल के पास करमन गांव की रहने वाली संतोष उर्फ रजनी पिछले डेढ़ साल से एक अस्पताल में बतौर नर्स काम कर रही थी और कल रात भी रोजाना की तरह 8 बजे अस्पताल में ड्यूटी पर आई थी। परिजनों की मानें तो रात को करीब 11:30 बजे अस्पताल से उनके पास फोन आया कि रजनी की तबीयत बहुत ज्यादा खराब है। परिजनों का कहना है कि वहां पर पहुंचे तो रजनी की मौत हो चुकी थी। परिजनों का रो रो कर के बुरा हाल है।

 

आपको बता दें कि मृतिका नर्स रजनी के भाई की मानें तो उसका कहना है कि उसी के साथ काम करने वाले दो युवक उसे परेशान करते थे। उन्होंने उसे भी जान से मारने की धमकी दी थी पर आज अस्पताल प्रबंधन की मिलीभगत से उनकी बहन की हत्या कर दी गई है। मृतिका रजनी के मामा ने भी कहा कि स्टाफ अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही और उनकी मिलीभगत से उनकी बेटी की जान गई है। जिसकी शिकायत उन्होंने पुलिस को दे दी है पुलिस इस मामले में जांच करेगी।

 

वहीं मामले की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंचे सेक्टर 11 पुलिस चौकी इंचार्ज विनोद कुमार की मानें तो उन्हें सूचना मिली थी कि अस्पताल में नर्स की मौत हो गई है। पुलिस की मानें तो परिजनों ने इस मामले में कुछ लोगों पर लगातार पिछले लंबे समय से उन्हें परेशान करने का आरोप लगाया है। पुलिस की मानें तो मामले की जांच की जा रही है और जांच के बाद ही पता चल पाएगा की नर्स रजनी की मौत कैसे हुई है।

 

अस्पताल के एडिशनल डायरेक्टर डॉ अरविंद बघेल की मानें तो रजनी को गैस की प्रॉब्लम हुई थी और खुद रजनी ने एक इंजेक्शन भरकर अपने ही साथी कर्मचारी को दिया था उसे लगाने के लिए। इंजेक्शन लगाने के बाद उसकी मौत हो गई। अस्पताल प्रशासन से बार-बार यह पूछे जाने पर कि ऐसा कौन सा इंजेक्शन था जिससे लगने से उसकी तबीयत बिगड़ती चली गई। अस्पताल प्रशासन पूरे प्रकरण में बचता हुआ दिखाई दिया। बार बार पूछे जाने के बाद भी डॉ अरविंद बघेल यह नहीं बता पाए कि रजनी को मौत के आगोश में ले जाने वाले उस इंजेक्शन का क्या नाम था। अस्पताल प्रशासन के यह सारे बयान कहीं ना कहीं रजनी की मौत के मामले में संदिग्ध हालात पैदा कर रहे हैं।

 

 

Share this post

Submit to Google Bookmarks Submit to Technorati Submit to Twitter Submit to LinkedIn